अमित शाह – हिंदी भाषा में किसी को बात करने के लिए फोर्स करना उचित नहीं (Karnataka Welcome the Amit shah’s speach on Hindi Language)

इंडिया में हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है जो कि इंडिया की हिंदी लैंग्वेज को मातृभाषा दर्शाता है 14 सितंबर को हिंदी दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि 1949 में इस दिन हिंदी लैंग्वेज को हिंदुस्तान के कॉन्स्टिट्यूशन असेंबली ने ऑफिशियल लैंग्वेज अडॉप्ट किया था हिंदी भाषा और उसके कल्चर को बढ़ावा देने के लिए 14 सितंबर को हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है जो कि हमें हिंदी लैंग्वेज सिखाने और बोलने की महत्व बताता है पर इंडिया के कई सारे स्टेट में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती है और इसलिए साउथ इंडिया के राज्य कर्नाटक ने इसके खिलाफ आवाज उठाया और कहा कि हम हिंदी नहीं बोलेंगे हमारी भाषा ही हमारे लिए इंपॉर्टेंट है अब जब इंडिया के होम मिनिस्टर अमित शाह ने यह क्लियर किया के जबरजस्ती किसी पर भी हिंदी इंपोज नहीं किया जाएगा तो कर्नाटका स्टेट ने उनके इस स्पीच को वेलकम किया

Leave a Comment